इसके बाद कभी लालच नहीं करोगे | Buddha Moral Story in Hindi | Buddha Story | Buddhism Story in Hindi

By | March 5, 2022

किसी ने क्या खूब कहा है कि धन के लालच में कभी इतना नीचे मत गिर जाना कि जान से हाथ धोना पड़ जाए |

 

 

एक ऐसी कहानी एक किसान की है जिसे यह कहा गया कि वह एक दिन में जितनी ज़मीन पर चलेगा वो उसकी हो जायेगी बशर्ते सूर्यास्त के पहले वो शुरुआत की जगह पर आ जाए |

 

 

ज्यादा से ज्यादा धन प्राप्ति के लिए वो किसान सुबह होते ही निकल पड़ा और खूब तेज चलने लगा | थकान के बावजूद भी वो चलता रहा क्योंकि जीवन में ज्यादा धन प्राप्ति के लिए एक बार मिले सुनहरे मौके को वो खोना नहीं चाहता था |

 

 

जब दिन ढलने लगा तो अचानक उसे शर्त याद आई कि सूरज ढलने से पहले उसे शुरुआत की जगह पर पहुंचना है |

 

 

लालच में वो बहुत दूर चला गया था | डूबते सूरज पर नजर रखते हुए उसने तेज़ी से वापस आना शुरू किया | शाम जैसे-जैसे करीब आती जा रही थी वो और तेज दौड़ रहा था | वह थक कर चूर हो चुका था और उसकी सांस उखड़ रही थी | लेकिन वो जबरदस्ती आगे बढ़ता रहा |

 

 

शुरुआत की जगह पर पहुंचते ही वो पछाड़ खाकर गिर पड़ा और मर गया |

 

 

सूरज डूबने से पहले वो वापस तो जरूर आ चुका था और पूरी जमीन भी उसकी हो चुकी थी लेकिन उसे दफनाया गया और इसके लिए जितनी जमीन की जरूरत पड़ी थी वो एक छोटा सा टुकड़ा था |

 

 

दोस्तों इस कहानी में एक गहरी सच्चाई और सबक छिपा हुआ है जवान चाहे अमीर था या गरीब इसका इतना महत्व नहीं है क्योंकि कोई भी लालची इंसान उस किसान की जगह होता तो उसका भी यही हश्र होना था |

Leave a Reply

Your email address will not be published.