कुछ सच्ची और अच्छी बातें | Kuch sacchi or acchi baaten

By | July 25, 2020

1. दुआ कभी साथ नहीं छोड़ती और बद्दुआ कभी पीछा नहीं छोड़ती जो दोगे लौटकर आएगा चाहे वह इज्जत है या धोखा |

 

2. ए मौत तेरा फैसला नेक है श्मशान में हरअमीर और गरीब का बिस्तर एक है |

 

3. झुकने का मतलब यह कदापि नहीं होता कि आपने अपना सम्मान खो दिया है दरअसल हर गिरी हुई वस्तु को उठाने के लिए झुकना ही पड़ता है प्रभु और बुजुर्गों का आशीर्वाद भी इनमे से एक है |

 

4. व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले ही मर जाता है और वह अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतना है और वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग में भी जाता है |

 

5. जैसे ही भय आपके करीब आए उस पर आक्रमण कर कर दीजिए वरना वह आप को नष्ट करने कोई कसर नहीं छोड़ेगा |

 

6. जब आंसू आपका हो और पिघलता कोईऔर हो तो यह समझ लेना कि वह रिश्ता उच्च से भी उच्च कोटि का हुआ है फिर चाहे वो रिश्ता प्रेम का हो या मित्रता का |

 

7. धर्म की सबसे सरल व्याख्या हमारे कारण किसी भी आत्मा को दुःख ना पहुँचे वही धर्म है |

 

8. अपने माँ के द्वारा कराये गए स्नान का क़र्ज़ जिसने चुका दिया उसे कभी भी किसी कुम्भ कि ज़रूरत नहीं पड़ी |

 

9. ” खामोशी ” यह दुनिया की सबसे बुलंद आवाज है |

 

10. प्रेम सहायक तभी हो सकता है जब आप अपने से ज्यादा आध्यात्मिक ऊंचाई वाले व्यक्ति के प्रेम में पड़ते हो अन्यथ यह सहायता नहीं कर सकता और ऐसे प्रेम को हम श्रद्धा कहते हैं |

 

11. औरत अगर रिश्ता निभाना चाहे तो झोपड़ी में भी खुश रहती है लेकिन औरत यदि रिश्ता ना निभा ना चाहे तो महल में भी दुखी रहती है |

 

12. जब आप किसी काम की शुरुआत करें तो असफलता से मत डरें और उस काम को कभी ना छोड़े क्योंकि जो लोग ईमानदारी से काम करते हैं वह सबसे ज्यादा प्रसन्न होते हैं |

 

13. चलते रहेंगे काफिले मेरे बगैर भी यहां एक तारा टूट जाने से पलक सूना नहीं होता |

 

14. जिस धर्म में पाप होने की व्यवस्था हो उसका समाज कभी पाप मुक्त नहीं हो सकता |

 

15. मजा आ जाएगा आपको जीने में खंज़र नहीं मोहब्बत हो उतारो सीने में |

 

16. मित्र वही है आपके दोषों को प्रकट करें, दुश्मन वही है जो आपके दोषों को ढांक दे लेकिन अब तक आप की परिभाषा अलग है आप मित्र उसे कहते हैं जो आपके सारे दोषों को ढांके और दुश्मन उसे कहते हैं जो आपके दोष उभारे |

 

17. बेहिसाब हसरतें न पालिए पहले जो मिला है उसे संभालिए |

 

18. रिश्ता बहुत गहरा हो या ना हो परंतु भरोसा बहुत गहरा होना चाहिए |

 

19. जीवन चक्र का असली मतलब वही होता है जब एक 60 वर्ष का बुजुर्ग किसी 10 वर्ष के बच्चे को और वह बच्चा उस बुजुर्ग व्यक्ति को देखता है | वुजुर्ग व्यक्ति सोचता है कि मैं भी 1 दिन यही था लेकिन अपने जीवन को मैंने कैसे नष्ट कर लिया ठीक से जिया ही नहीं काश मैं फिर से इस 10 वर्ष के बच्चे की भांति हो पाता इसलिए आपका जितना भी जीवन बाकी है उसे अभी भी खुशी-खुशी जी लें वरना ये शब्द आपको भी दोहराने पड़ सकते हैं |

 

20. भगवान जानते हैं कि आपने किसी चीज के लिए कितना सब्र किया है और यकीन मानिए आपके सब्र की हर कीमत अदा होगी केवल भगवान पर भरोसा रखें |

 

21. हमें भूत के बारे में पछतावा नहीं करना चाहिए, ना ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए विवेक वान व्यक्ति हमेशा वर्तमान में जीते हैं |

 

22. महानता कभी ना गिरने में नहीं है बल्कि हर बार गिरकर उठ जाने में है |

 

23. सब दुख दूर होने के बाद मन प्रसन्न होगा यह आपका भ्रम है, मन प्रसन्न रखिए सब दुख दूर हो जाएंगे |

 

24. मिली है जिंदगी तो कोई मकसद भी रखिए सिर्फ सांसे लेकर वक्त गवाना जिंदगी तो नहीं |

 

25. सच्चाई और अच्छाई की तलाश में पूरी दुनिया घूम ले लेकिन अगर वह अपने में नहीं तो कहीं भी नहीं |

 

26. ध्यान रखिए कि जिस दिन आप ईश्वर से कुछ मांगना छोड़ देंगे तो उस दिन से परमात्मा आपको देने के लिए व्याकुल हो जाएगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *