कुछ सच्ची और अच्छी बातें | Kuch sacchi or acchi baaten by Rohit Kumar

By | September 21, 2020

1. संस्कार और संक्रमण दोनों ही एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलते हैं संस्कार जगत में मानव सभ्यता की स्थापना करते हैं और संक्रमण बीमारी फैला कर मानव सभ्यता का विनाश करता है |

 

2. जिंदगी जीने का तरीका उन्हीं लोगों को आया है जिन्होंने अपनी जिंदगी में हर जगह धोखा खाया है |

 

3. आजकल के रिश्तो का हाल कुछ इस कदर हो गया है कि मानो कोई अंतिम रस्म ही चल रही हो हम सबके दरमियां क्योंकि हम एक दूसरे को याद तो करते हैं पर बात नहीं करते |

 

4. माना वक्त सता रहा है मगर जीना कैसे है वह भी तो बता रहा है |

 

5. यह कलयुग नहीं मतलबी युग चल रहा है साहब कि जब तक आप सामने वाले के मन की करते हैं तो अच्छे हैं मगर एक बार यदि आपने अपने मन की कर ली तो सभी अच्छाइयां बुराइयों में तब्दील हो जाती हैं |

 

6. गलत सोच और गलत अंदाजा इंसान को हर रिश्ते से गुमराह कर देते हैं |

 

7. अक्सर लोग कहते हैं कि एक जरा सी बात पर रिश्ता टूट गया पर वो जरा सी बात के पीछे बहुत बड़ी – बड़ी बातें होती हैं और वह जरा सी बात बर्दाश्त की आखरी बात होती है |

 

8. दुआएं कभी रद्द नहीं होती वह तो बस बेहतरीन वक्त पर कुबूल होती हैं |

 

9. कुछ बातें दिल में दफन हो जाए तो ही अच्छा है क्योंकि अक्सर सच्ची बातें रिश्ता तोड़ देती हैं |

 

10. जिंदगी में यदि आपको खुश रहना है तो अपने आपमें खुश रहें और किसी से कोई उम्मीद ना करें |

 

11. कुछ लोग छिपके भी आपकी परवाह करते हैं पर बोलते नहीं क्योंकि वो रिश्ता निभाते हैं तौलते नहीं |

 

12. अच्छे संस्कार किसी मॉल से नहीं परिवार के माहौल से मिलते हैं |

 

13. इंद्रधनुष बनने के लिए बारिश और धूप दोनों की जरूरत होती है हमारी जिंदगी भी कुछ ऐसी ही है इसमें दुख हैं तो सुख भी हैं, बुराईयाँ हैं तो अच्छाईयाँ भी हैं, अंधेरा है तो उजाला भी है और जीवन के लिए सभी जरूरी हैं |

 

14. जिंदगी का हर दिन, हर घंटा, हर मिनट, हर पल विशेष है बहुत खास है जैसे सितारों के साथ आकाश है, रिश्तो के साथ विश्वास है सच्चे मन से पलकों को बंद करके देख लीजिए हमारा सतगुरु हर पल हमारे साथ है |

 

15. नफरत खुलकर और मोहब्बत छिपकर करते हैं लोग अपनी ही बनाई हुई दुनिया से कितना डरते हैं लोग |

 

16. एक झूठ अधिकतर बोला जाता है और सुनने में भी अच्छा लगता है वह है कि ” मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं या करती हूं लेकिन यह बात सच नहीं है क्योंकि प्रेम कम या ज्यादा नहीं होता प्रेम जब भी होता है पूरा होता है, पूर्ण होता है प्रेम कभी मात्रा में नहीं होता है अनुपात में नहीं होता है | ईश्वर ने प्रेम ही एक ऐसी चीज बनाई है जो या तो शून्य होती है या तो पूर्ण होती है इसमें बीच का कोई रास्ता नहीं है | इसलिए जहां प्रेम में कम या ज्यादा की बात हो रही हो समझ लीजिएगा वहां ढोंग या फरेब हो रहा है |

 

17. हर कर्ज दोस्ती का अदा कौन करेगा जब हम ही ना रहे तो दोस्ती कौन करेगा हे खुदा सलामत रखना मेरे दोस्तों को वरना मेरे जीने की दुआ कौन करेगा |

 

18. नदी जब किनारा छोड़ देती है राह की चट्टान तक तोड़ देती है बात छोटी सी अगर चुभ जाए दिल में तो दिलों के रास्तों को भी मोड़ देती है |

 

19. कुछ लोग हमसे कुछ इस कदर भी रूठ जाते हैं कि जैसे उन्हें किसी और ने मना लिया हो |

 

दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि आपको ये सारे quotes जरुर पसंद आये होंगे, आपको ये कुछ सच्ची और अच्छी बातें | Kuch sacchi or acchi baaten by Rohit Kumar कैसे लगे हमें कमेंट करके जरुर बताएं | आपका feedback हमारे लिए बेशकीमती है | अगर हमारे लिए आपकी कोई राय है तो आप हमें e-mail भी कर सकते हैं, और ऐसे ही अनमोल विचार, सुविचार या मोटिवेशनल कहानियों के लिए आप हमारे ब्लॉग और YouTube चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *