कुछ सच्ची और अच्छी बातें | Kuch sacchi or acchi baaten by Rohit Kumar

By | June 7, 2021

1. बात बस नजरिए की है साहब काफी अकेला हूं या अकेला ही काफी हूं |

 

 

2. अहंकार और संस्कार में बहुत बड़ा अंतर होता है ,अहंकार झुकाकर प्रसन्न होता है और संस्कार स्वयं झुककर प्रसन्न होता है |

 

 

3. रोजी रोटी कमाना कोई हुनर की बात नहीं लेकिन परिवार के साथ रोज रोटी खाना हुनर कहलाता है |

 

 

4. जलना जलाना यह सब फिजूल है अपने काम में मस्त रहो यह अपना उसूल है |

 

 

5. मिटटी भी जमा की और खिलौने भी बना कर देखे लेकिन जिंदगी कभी ना मुस्कुरा सकी बचपन की तरह |

 

 

6. नाव की भूमिका को समझें कि स्वयं जल में होकर भी औरों को पार कराता है दायित्व ईश्वर उसी को देता है जो औरों का भार उठाता है |

 

 

7. जीवन में हम कई बार बड़ी-बड़ी परेशानियों से यूं निकल जाते हैं मानो कोई है जो हमारा साथ दे रहा है और उसी अदृश्य शक्ति को ईश्वर कहा जाता है |

 

 

8. संपत्तियां, उपलब्धियां, प्रतिष्ठा, सम्मान और पद कुछ भी मायने नहीं रखता अगर आप खुश नहीं हैं इस जिंदगी की सबसे पहली जरूरत है आपका खुश रहना खुश रहिए स्वस्थ रहिए |

 

 

9. मनुष्य का अमूल्य धन उसका व्यवहार है इस धन से बढ़कर संसार में कोई दूसरा धन नहीं है पैसा आता है चला जाता है पैसा आपके हाथों में नहीं है पर व्यवहार आपके हाथों में हैं |

 

 

10. किसी ने पूछा इतने गम में भी खुश कैसे हो मैंने कहा प्यार साथ दे या ना दे यार साथ हैं |

 

 

11. सब्र की हल्की आंच में पकने दो इसे इश्क है या वहम सब नज़रआ जाएगा |

 

 

12. वह जिस्म से बेबस है ज़मीर से नहीं वो रब से मांगता है अमीर से नहीं |

 

 

13. तीसरे ने आकर दूसरे के साथ मिलकर पहले की जिंदगी बर्बाद कर दी |

 

 

14. कौन कैसा है यही फ़िक्र रही तमाम उम्र हम कैसे हैं यह भूल कर भी नहीं सोचा |

 

 

15. हाथ छूटे तो भी रिश्ते नहीं तोड़ा करते वक्त की शाख से लम्हे नहीं तोड़ा करते |

 

 

16. झूठ में आकर्षण तो हो सकता है पर स्थिरता तो सत्य में ही होती है |

 

 

17. कुछ लोग सांस से जीते हैं और कुछ लोग विश्वास से |

 

 

18. अर्श वाले से राब्ता मजबूत हो अगर तो फ़र्श वाले आपका कुछ नहीं बिगाड़ सकते |

 

 

19. दिल अगर नेक होगा तभी तो उसमें एक होगा |

 

 

20. अपने उसूल कभी यूं भी तोड़ने पड़े खता उनकी थी और हाथ मुझे जोड़ने पड़े |

 

 

21. कुछ लोगों से दूरियां करने पर ही पता लगता है कि वो हमारे कितने नजदीक थे |

 

 

22. जैसा मूड हो वैसा मंजर होता है अरे मौसम तो इंसान के अंदर होता है |

 

 

23. जिंदगी जरा लंबी हो जाए तो औलाद भी अच्छा खासा सबक सिखा देती है |

 

 

24. कभी कभी ऐसा लगता है जैसे मानो बचपन वाले खिलौने आवाज दे रहे हों और पूछ रहे हों कि कैसा लगता है जब तुम्हारे साथ लोग खेलते हैं |

 

 

25. जिसको जितनी जरूरत थी वह उतना ही मेरे साथ चला सुबह मैं काफिला लेकर चला था शाम को अकेला मिला |

 

 

26. कुछ पुरानी तस्वीरें हर बार एक नई यादें दे जाती हैं |

 

 

27. सफल व्यक्ति अपने चेहरे पर दो ही भाव रखते हैं एक मुस्कुराहट मुश्किलों को हल करने के लिए और दूसरी खामोशी मुश्किलों से दूर रहने के लिए |

 

 

28. जिसे अपनी ताकत पर नाज है उससे पूछिए तो सही क्या खुद वो अपना जनाज़ा उठा सकता है शर्म से उसका सिर ना झुक जाए तो फिर कहियेगा |

 

 

29. किस्मत को बेकार बोलने वालों कभी किसी गरीब के पास बैठ कर पूछना कि जिंदगी क्या है |

 

 

दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि आपको ये सारे quotes जरुर पसंद आये होंगे, आपको ये कुछ सच्ची और अच्छी बातें | Kuch sacchi or acchi baaten by Rohit Kumar कैसे लगे हमें कमेंट करके जरुर बताएं | आपका feedback हमारे लिए बेशकीमती है | अगर हमारे लिए आपकी कोई राय है तो आप हमें e-mail भी कर सकते हैं, और ऐसे ही अनमोल विचार, सुविचार या मोटिवेशनल कहानियों के लिए आप हमारे ब्लॉग और YouTube चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *