कुछ सच्ची और अच्छी बातें | Kuch sacchi or acchi baaten by Rohit Kumar

By | June 9, 2021

1. मन्नत के धागे बांधो या मुरादों की पर्ची वह देगा तभी जब होगी उसकी मर्जी |

 

 

2. कुछ बातों का जवाब खामोशी होती है और खामोशी एक खूबसूरत जवाब है |

 

 

3. तमन्नाओं की महफिल तो हर कोई सजाता है लेकिन पूरी उसकी होती है जो तकदीर लेकर आता है |

 

 

4. किरदार में भले अदाकारियाँ नहीं है खुद्दारी है, गुरुर है पर मक्कारियाँ नहीं हैं |

 

 

5. खामोशी से जब तुम भर जाओगे कहीं अकेले में थोडा सा चीख लेना वरना मर जाओगे |

 

 

6. बिगड़े हुए हालातों की तस्वीर बदल देती है माँ की दुआएं बेटे की तकदीर बदल देती है |

 

 

7. ये बेफिक्र सी सुबह और गुनगुनाहट शामों की जिंदगी बहुत खूबसूरत है अगर आदत हो मुस्कुराने की |

 

 

8. जज्बात लिखा तो मालूम हुआ कि पढ़े-लिखे लोग पढ़ना भी नहीं जानते |

 

 

9. शब्द और दिमाग से दुनिया जीती जाती है दिल तो आज भी दिल से ही जीता जाता है |

 

 

10. इत्र की महक दामन में हो या ना हो जज्बात और अल्फ़ाज़ हमेशा महकदार होने चाहिए |

 

 

11. जहां चोट खाना वहीं मुस्कुराना मगर इस अदा से कि रो दे ये जमाना |

 

 

12. जब भी तुम्हारा हौसला आसमान में जाएगा होशियार रहना कोई पंख काटने जरूर आएगा |

 

 

13. किसी की संगत से आपके विचार शुद्ध होने लगे तो समझ लेना कि वह कोई साधारण व्यक्ति नहीं है |

 

 

14. लोगों को परिणाम से मतलब होता है प्रयास से नहीं और विडंबना यह है कि हमारे हाथ में प्रयास होता है परिणाम नहीं |

 

 

15. मजदूर था वो मजबूर हो गया रोजगार ही उससे दूर हो गया सरहदें तो लांघी थी अमीरों ने इसमें गरीबों का क्या कसूर हो गया |

 

 

16. जो सम्मान से कभी गर्वित नहीं होते अपमान से कभी क्रोधित नहीं होते और क्रोधित होकर भी जो कभी कठोर नहीं बोलते वास्तव में वे ही श्रेष्ठ होते हैं |

 

 

17. इंसानियत की रोशनी गुम हो गई है कहां साये तो हैं आदमी के मगर आदमी है कहां |

 

 

18. श्रेष्टता का आधार कोई ऊँचे आसमान पर बैठना नहीं होता श्रेष्टता का आधार हमारी ऊँची सोच पर निर्भर करता है |

 

 

19. मेरी झोली में कुछ दोस्त और कुछ रिश्ते हैं ऊपर वाले का शुक्र है उनमे कुछ आप जैसे भी फरिश्ते हैं |

 

 

20. वाणी और विचार यह दोनों प्रोडक्ट हमारी खुद की कंपनी के हैं हम जितना उनकी quality और गुणवत्ता का अच्छा ख्याल रखेंगे उतनी ही उनकी कीमत ज्यादा मिलेगी |

 

 

21. सुनकर जमाने की बातें हम अपनी अदा नहीं बदलते यकीन रखते हैं खुदा पर बार-बार खुदा नहीं बदलते |

 

 

22. ध्यान रहे कि हज़ार चाहने वाले से एक निभाने वाला बेहतर है |

 

 

23.जब मन ही अंधा हो तू आंखें किसी काम की नहीं रहतीं |

 

 

24. संतुष्ट जीवन सफल जीवन से सदैव श्रेष्ठ होता है क्योंकि सफलता सदैव दूसरों के द्वारा आँकलित होती है जबकि संतुष्टि स्वयं के मन और मस्तिष्क द्वारा |

 

 

25. किस पर ठहरती है नजर यह नजर नजर की बात है कौन किसका कितना बन जाता है अजीज यह मुकद्दर की बात है |

 

 

26. पैर को लगने वाली चोट संभल कर चलना सिखाती है और मन को लगने वाली चोट समझदारी से जीना सिखाती है |

 

 

27. सब प्रेम नहीं माँगते कुछ तुमसे तुम्हारी पीड़ा भी मांगते हैं मांगने वाले हर व्यक्ति भिक्षुक नहीं होते कुछ बुद्ध भी होते हैं |

 

 

यदि आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करें धन्यावाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *