कुछ सच्ची बातें | अनमोल वचन | बातें गुलज़ार सी | जीवन का सार Life changing quotes…

By | July 15, 2021

1. अगर तुम भी अपने दिल से किसी को निकालना चाहते हो तो रोज कोशिश किया करो अपने आप से मिलने की |

 

 

2. इतनी शिद्दत से भी किसी से प्यार मत करना बहुत गहराई में जाने वाले अक्सर डूब जाते हैं |

 

 

3. जिंदगी में कुछ हादसे आवाज छीन लेते हैं ये जो खामोशी होती है बेवजह नहीं होती |

 

 

4. मैंने अपनों को ही इतनी बेवफाई करते देखा है कि अब गैरों के बेवफा होने का डर ही नहीं लगता |

 

 

5. अपना बनाकर कुछ दिनों में बेगाना कर दिया भर गया दिल हमसे और मजबूरी का बहाना बना दिया |

 

 

6. एक रिसर्च के अनुसार यदि आप किसी व्यक्ति को अपने मन से नहीं निकाल पा रहे हैं तो समझ जाइए सामने वाला व्यक्ति भी आपको अपने मन से नहीं निकाल पा रहा है |

 

 

7. कुछ लोग किस्मत की तरह होते हैं जो दुआओं से मिलते हैं और कुछ लोग दुआओं की तरह होते हैं जो किस्मत से मिलते हैं |

 

 

8. ना तो अनपढ़ रहे ना किसी काबिल हुए हम तो खामखां ही इश्क के स्कूल में दाखिल हुए |

 

 

9. कितना मुश्किल होता है उस शख्स को अलविदा कहना जिससे मिलने की दुआएं मांगी हों रात दिन |

 

 

10. गजब का प्यार था उसकी उदास आंखों में महसूस तक ना होने दिया कि वो मुझे छोड़ने वाला है |

 

 

11. जिंदगी के उन हालातों से भी गुजरा हूं जहां लगता था कि मरना जरूरी हो गया है |

 

 

12. ज्यादा कुछ नहीं जानते हम मोहब्बत के बारे में बस रात का आखरी ख्याल और सुबह की पहली सोच हो तुम |

 

 

13. इश्क के चांद को अपनी पनाह में रहने दो लबों को ना खोलो आंखों को कुछ कहने दो |

 

 

14. क्या लिखूं तेरी तारीफ ए सूरत में यार अल्फाज कम पड़ रहे हैं तेरी मासूमियत देखकर |

 

 

15. आज उसकी मासूमियत के कायल हो गए सिर्फ उनकी एक नजर से ही घायल हो गए |

 

 

16. न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर तेरे सामने आने से ज्यादा तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है |

 

 

17. लिख दूं किताबें तेरी मासूमियत पर फिर डर लगता है कहीं हर शख्स तेरा तलबगार ना हो जाए |

 

 

18. मेरी मासूमियत मुझसे चुरा गया कोई इस तरह मोहब्बत मुझसे निभा गया |

 

 

19. होती है बड़ी जालिम एक तरफा मोहब्बत वो याद तो आते हैं मगर याद नहीं करते |

 

 

20. फासला बना लिया तुमने मैंने दीवार खड़ी कर ली जरा सी गलतफहमी ने देखो कितनी तरक्की कर ली |

 

 

21. खुद को बदलते बदलते इतना भी मत बदल जाना कि आईना सामने हो तो अपना चेहरा भी याद ना रहे |

 

 

22. आज तक बहुत भरोसे टूटे हैं मगर भरोसे की आदत अभी तलक नहीं छूटी |

 

 

23. अपनों ने थोड़ा सा वक्त दिया था मुझे मैंने आज तक उसे संभाल कर रखा है |

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *