(गौतम बुद्ध) इसे देखने के बाद बार-बार दुखी होकर रोना छोड़ दोगे 🔥 केवल 1 मिनट लगेगा देख लो |

By | February 2, 2022

एक बार भगवान बुद्ध अपना समय पाटलिपुत्र में व्यतीत कर रहे थे उनका उपदेश सुनने के लिए बहुत दूर से लोग आते थे |

 

 

एक समय की बात है प्रवचन के समय उनके शिष्य आनंद ने पूछा भंते आपके सामने हजारों लोग बैठे हैं बताइए इनमें सबसे दुखी कौन है..??

 

 

बुद्ध ने कहा वह देखो पीछे जो दुबला सा आदमी बैठा है वह सबसे दुखी है यह सुनकर आनंद की समस्या का समाधान नहीं हुआ |

 

यह कैसे हो सकता है प्रभु..??

 

बुद्ध बोले अच्छा अभी बताता हूं..

 

 

उन्होंने बारी-बारी से सामने बैठे लोगों से पूछा बोलो तुम्हें क्या चाहिए किसी ने धन, किसी ने संतान, किसी ने अपने दुश्मन पर विजय मांगी |

 

 

एक भी आदमी ऐसा ना निकला जिसने कुछ ना मांगा हो | अंत में उस आदमी की बारी आई तो बुद्ध ने उससे पूछा कि कहो भाई तुम्हें क्या चाहिए .?

 

 

उस व्यक्ति ने कहा कुछ भी नहीं | अगर भगवान को कुछ देना ही है तो बस इतना कर दें कि मेरे अंदर कभी कोई नई चाहत पैदा ही ना हो, मैं ऐसे ही अपने को बहुत बड़ा दुखी मानता हूं |

 

 

तब बुद्ध ने कहा “जहां चाह है वहाँ सुख नहीं हो सकता” |

आनंद को सारी बात समझ आ गई और उम्मीद है सारी बात समझ चुके होंगे |

Leave a Reply

Your email address will not be published.