त्याग फलता है लोभ छलता है 🧘🚩Gautam Buddha Moral story Hindi | Buddha Story Hindi | Buddhism Story

By | March 6, 2022

एक दिन भगवान बुद्ध के शिष्यों में त्याग और लोभ जैसे विषयों पर चर्चा हो रही थी | बहुत समय बीतने पर भी शिष्य किसी निर्णय पर नहीं पहुंचे तो सब मिलकर भगवान बुद्ध के पास पहुंचे |

 

 

 

भगवान बुद्ध उनकी समस्या का समाधान करते हुए बोले – किसी नगर में एक सेठ रहता था | उसके पास बहुत धन था | उसकी तिजोरियाँ हमेशा मोहरों से भरी रहती थीं लेकिन उसका लोभी मन नहीं मानता था |

 

 

 

जैसे-जैसे धन बढ़ता जाता था | उसकी लालसा और भी बढ़ती जाती थी |

 

 

 

सेठ बहुत ही कंजूस था | कभी किसी को एक कौड़ी भी नहीं देता था | यदि कोई उसके दरवाजे पर आकर हाथ फैलाता तो वह उसे धुत्कार देता था |

 

 

 

संयोग से उसके यहां एक साधु आया उसे देखकर अचानक सेठ को जाने क्या सूझा कि उसने एक पैसा निकालकर उसकी झोली में डाल दिया |

 

 

 

साधु चला गया |

 

 

 

लेकिन सेठ के आश्चर्य का ठिकाना ना रहा | जब उसने देखा कि शाम को उसे एक मोहर प्राप्त हुई |

 

 

 

पैसे के बदले में मोहर, वाह..!! मारे खुशी के वह कूदने लगा | | परंतु थोड़ी ही देर बाद उसकी सारी खुशी काफुर हो गई |

 

 

 

उसके भीतर कोई कह रहा था ओ मुर्ख तूने साधु को पैसा ही क्यों दिया ? यदि एक मोहर दी होती, तो तू ना जाने कितना मालामाल हो जाता..!!

 

 

 

ऐसा विचार आते ही सेठ ने अपने को धिक्कारा… हां, सचमुच मैंने मूर्खता की |

 

 

 

अब वह साधु के आने का पाठ जपने लगा | पर उसे अधिक प्रतीक्षा नहीं करनी पड़ी |

 

 

 

अगले दिन ही वो साधु फिर आ गया | साधु को देखते ही उस सेठ ने झट से अपनी तिजोरी से एक मोहर निकाली और साधू की झोली में डाल दी |

 

 

 

मोहर लेकर साधु चला गया |

 

 

 

 

तू सेठ के लिए एक एक पल, एक एक युग के समान हो गया | वो चाहता था कि कैसे भी शाम हो जाए | फिर शाम हु,ई रात भी हुई लेकिन उसकी इच्छा पूरी नहीं हुई | मोहरें मिलना तो दूर, हाथ में आई मोहरें भी चली गई | वह सिर धुनने लगा | तभी आकाशवाणी हुई कि सेठ याद रख ” त्याग फलता है, लोभ छलता है

 

 

 

 

कथा सुनकर शिष्य त्याग और लोभ का मर्म जान गए |

 

 

 

 

दोस्तों यह कहानी आपको कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताइएगा अगर यह वीडियो पसंद आया तो इस वीडियो को जरूर लाइक करें धन्यवाद दोस्तों |

Leave a Reply

Your email address will not be published.