बुरी आदतें अब छोड़ दोगे बस 1 मिनट इसे सुन लो || Buddhism Story in Hindi || Buddha Life Lesson in Hindi

By | February 4, 2022

एक दिन गौतम बुद्ध के पास एक युवक आया और उसने कहा कि मैं अपनी बुरी आदतों को छोड़ना चाहता हूं |

 

 

 

बुद्ध ने पूछा कि तुम्हारी कौन कौन सी बुरी आदतें हैं..??

 

 

 

युवक बोला मैं शराब पीता हूं, जुआ खेलने की लत है, और भी बहुत सारी आदतें हैं जिन्हें कहते हुए मुझे शर्म आती है |

 

 

 

भगवान बुद्ध ने कहा आज से ही यह सब छोड़ दो |

 

 

 

युवक बोला कि एकदम से कैसे छोड़ दूं धीरे-धीरे ही तो छूटेगा | इस पर बुद्ध ने युवक को एक घटना सुनाई :-

 

 

 

एक समय की बात है एक संत के पास एक धनी युवक आया और उन्हें सहस्रों स्वर्ण मुद्राएं देने लगा | संत ने नाराजगी के स्वर में बोला चल मेरे साथ और मेरे सामने ही इन्हें गंगा में फेंक दें |

 

 

 

वह संत उस युवक की बांह पकड़कर उसे गंगा के तट पर ले गए | युवक ने स्वर्ण मुद्राएं गंगा में फेंकना प्रारंभ किया लेकिन उसने सोचा कि एक – एक गिनकर फेंकता हूँ |

 

 

 

एक-एक करके स्वर्ण मुद्राएं फेंकने में उस युवक को शाम हो गई अंत में बची हुई मुद्राओं का ढेर संत ने उससे छीन लिया और एक साथ गंगा में फेंक दिया |

 

 

 

संत ने उस युवक से कहा इन स्वर्ण मुद्राओं को एक साथ ना फेंक कर तुमने जिस तरह गिन गिन कर फेंका उससे दो बातें खुलकर सामने आ गई एक तो यह कि इन स्वर्ण मुद्राओं से तुम्हें कितना लगाव था जो तुम फेंकने से पहले इन्हें गिन लेना चाहते थे और दूसरा यह कि जिस जगह तुम मात्र एक कदम उठाकर पँहुच सकते थे वहां पहुंचने के लिए तुमने बेकार में हजारों कदम बढ़ाए |

 

 

 

बुद्ध ने नवयुवक को समझाया कि जब बुरी आदत को छोड़ना है तो फिर धीरे-धीरे छोड़ने का बहाना क्यों..?? एकदम क्यों नहीं छोड़ देते ? आज से छोड़ दो, अभी से छोड़ दो |

 

 

 

युवक ने उसी समय अपनी बुरी आदतों को छोड़ने की कसम खाई |

Leave a Reply

Your email address will not be published.