सीधे रहोगे तो कचर दिए जाओगे 😡 Gautam Buddha MoraL Story in Hindi | Buddhism Story in Hindi

By | February 15, 2022

किसी ने बड़े कमाल की बात कही है | कभी-कभी हमें जानवरों से कुछ ऐसी सीख लेनी चाहिए जो हमारे जीवन में काम आए | आज एक ऐसी ही सीख मैं आपको इस कहानी के माध्यम से समझाने वाला हूं |

किसी गांव के समीप एक सांप रहता था | वह बड़ा ही तेज था | जो भी वहां से निकलता वो उस पर दौड़ पड़ता और उसकी जान ले लेता | सारे गांव के लोग उस से तंग आ गए | वो दिन रात उसे कोसते रहते |

 

 

आखिरकार लोगों ने उस मार्ग से निकलना ही छोड़ दिया | गांव का वह हिस्सा उजाड़ सा हो गया |

 

 

एक दिन महात्मा बुद्ध भ्रमण करते हुए उस गांव में आए | लोगों ने उस सांप के बारे में उन्हें बताया | गांव वालों की बात सुनकर बुद्ध सांप के पास गए और उसे समझाते हुए बोले | यह जन्म बार-बार नहीं मिलता | ऐसा जीना किस काम का की लोग गालियां दें |

 

 

सांप ने पूछा मैं क्या करूं ? बुद्ध बोले तुम हमला करना छोड़ दो | सब के साथ प्यार का व्यवहार करो |

 

 

सांप ने बुद्ध की बात मान ली | उस दिन से वो खुले मैदान में चुपचाप पड़ा रहता |

 

 

लोगों को यह मालूम हुआ तो उनका डर धीरे-धीरे दूर हो गया और वो उधर से बेधड़क आने – जाने लगे | अब गांव के बच्चे वहां इकट्ठे हो जाते और उसको ईंट पत्थर मारते | उसके बदन में लकड़ी चुभोते | बेचारा सांप सब कुछ सहन कर लेता |

 

 

संयोग से एक दिन पुनः महात्मा बुद्ध वहां से निकले |

 

 

उसकी बुरी हालत देखकर बुद्ध चकित रह गये | उन्होंने पूछा अरे तुम्हें या क्या हो गया…!!

 

 

सांप ने सारा हाल कह सुनाया | सारा हाल सुनकर बुद्ध बोले : भाई मैंने तुझे काटने से मना किया था फुफकारने से मना नहीं किया था | जो अपने तेज़ को प्रकट नहीं करता | उसे कोई नहीं जीने देता है |

 

 

सांप और भगवान बुद्ध की बात समझ चुका था | कुछ दिन से उसने फुफकारना शुरू कर दिया | उसकी फुफकार सुनते ही बच्चे दूर भाग जाते |

 

 

सांप काटना तो पहले ही छोड़ चुका था | इसलिए लोगों ने उस से डरना भी बंद कर दिया | अब वे सभी चैन से रहने लगे |

 

 

मैं उम्मीद करता हूं कि आप भी इस कहानी का सार समझ चुके होंगे हमें कमेंट करके जरूर बताइए और वीडियो को लाइक जरूर कीजिए |

Leave a Reply

Your email address will not be published.